मंगलवार, 21 जुलाई 2009 | By: kamlesh chander verma

हिन्दी भाषा के मानस ......

आप सभी के ब्लॉग जितने भी पढ़ सका हूँ ,उसमे से यही भावः उभर कर आया है ,हम सभी हिंदी भाषा के प्रतिसमर्पण का भावः रख कर सभी लोग आपने सुन्दर, सुव्यवस्थित एवम भावः पूर्ण शब्दावली का प्रयोग करके ,अपनीमार्तु भाषा की विनम्र सेवा, में समस्त गुणीजन अनवरत ,पर्यत्न्शील हैं ,यही कामना है !काफी मजेदार पर्संगों को जिस परकार आप लोग प्रस्तुत करते है ,काफी सराहनीय प्रयास होता है ,मै भी आप लोगो से आपने मार्ग दर्शन की अपेक्षाकरता हूँ ,की आप हमें विषय एवम सन्दर्भों के बारे में मेरी सहायता करें ,ताकि मै भी कुछ ऐसा लिखने का सहस करुँजिससे हिंदी भाषा की सेवा कर सकूं ! आप सभी का आभार सहित ,नमस्कार ..जय भारत .