शनिवार, 25 जुलाई 2009 | By: kamlesh chander verma

भारत की नई करेंसी ?


अगर आप बस में सफर कर रहे हो और आपने टिकट लिया और बचे हुए ,पैसों के बदले आप को नई करेसी खाने को, मेरा मतलब खुल्ले पैसों की जगह, आप को ''चाइनीज़ ; टॉफी दे तो हैरान मत हो ,यह भारत की नई मुद्रा है, जो इन खुदरा टाइप वेंडरों मतलब परिचालकों द्वारा दी गई! मुद्रा को कुछ लोग हंस कर ले ले लेते हैं. कुछ लोग हाथों में रख सोचते है ,की यार इस मुद्रा को बाज़ार में आने का सरकार द्वारा कोई फरमान भी नही आया और ये कहाँ से गई ,और तो और आप दूसरी किसी जगह जैसे पी।सी ,सिनेमा ,जलपान गृह में भी आपका यही मुद्रा स्वागत करती है ,कमाल तो तब हो जाता है ,जब उसी टॉफी को उसी रेट पर वापस लेने का वादा करके के उस मुद्रा के असली होने का अहसास भी करवा देते है ,तो अगर आप कभी कहीं पर इस तरह की मुद्रा का चलन देखें तो ,आश्चर्य चकित हो क्योंकि आप को यह बात पहले से पता हो चुकी है ,अच्छा आप लोग इस मुद्रा का स्वाद लीजिये ,नमस्कार