गुरुवार, 17 सितंबर 2009 | By: kamlesh chander verma

आप लोगों की हौसला अफजाई..

मेरे ब्लॉग की पहली कमाई ,
आप लोगों की हौसला अफजाई ,
क्या रंग लाएगी ?
आने लगे ad हिन्दी में ,
बस हिन्दी छा जायेगी ,
लिखने को लिख मारो ,चाहे ग्रन्थ ,
पर फल मिलने का,भी हो कोई मन्त्र ,
तो अब है लग रहा ,मिल रहा है यंत्र ,
कोई चाहे कुछ भी करे ,
'कमलेश ब्लोगर है स्वतंत्र ,